By | September 30, 2021

गांधी जी ने सहयोग आंदोलन को वापस लेने का फैसला क्यों लिया? | Gandhi ji ne Asahayog Andolan ko Wapas lene ka faisla kyun liya

उत्तर – गांधी जी ने सहयोग आंदोलन को वापस लेने का फैसला इसलिए लिया क्योकि 1922 में गोरखपुर के चौरी-चौरा काण्ड में भीड़ में उपस्थित गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने पुलिस थाने को आग लगा दिया था जिसमे 22 पुलिसकर्मी जलकर मर गए थे.

असहयोग आंदोलन का मुख्य कारण

महात्मा गांधीजी ने 1920 में असहयोग आंदोलन की शुरुआत की थी, और इस असहयोग आंदोलन के दौरान 5 फ़रवरी, 1922 में हुए चौरी-चौरा घटना के भीषण कांड के बाद गाँधी जी ने उस आंदोलन को वापस ले लिया था. 

इस चौरी-चौरा घटना के दो दिन पहले से असहयोग आंदोलन को लेकर कुछ प्रत्याशी मीट के बढ़ते दामो का विरोध कर रहे थे, जिसके दौरान उस विरोध प्रदर्शन के कुछ नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था. और दो दिन के बाद अपने नेताओं की रिहाई के लिए पुलिस चौकी के सामने प्रदर्शन किये. जिसके दौरान पुलिस कर्मियों ने उन प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर दिया था. और ऐसे में भीड़ के भड़क जाने पर पुलिस कर्मियों ने अपने आप को सुरक्षित करने के लिए पुलिस चौकी में गेट बंद कर शरण ली. फिर गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने उस चौकी में ही आग लगा दिया जिसमे 22 से भी  ज्यादा  पुलिसकर्मी मारे गये थे. इसलिए महात्मा गाँधी ने सहयोग आंदोलन को वापस लेने का फैसला किया था. 

Read more 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *