By | June 17, 2021
इस आर्टिकल में हम आपको “Sansmaran kya hai Spasht kijiye? इस सवाल के बारे में बताएँगे. यहाँ अलग अलग प्रकार से संस्मरण को स्पस्ट किया गया हैं. जिसे आप आसानी से समझ सकते हैं. 

संस्मरण क्या है? Sansmaran kya hai spasht kijiye

किसी घटना, व्यक्ति या किसी वस्तु के स्मृति के आधार पर कलात्मक व्याख्यान करना संस्मरण (memoir) कहलाता है. संस्मरण दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है जैसे ” सम् + स्मरण “. यहाँ स्वयं की अपेक्षा वस्तु की घटना को अधिक महत्व होता हैं. क्योकि संस्मरण से जुड़ी हुई सभी घटनाए सत्यता पर आधारित होती है. जिसके बारे लेखक संस्मरण लिखता हैं. यहाँ कोई भी काल्पनिक घटनाओ का पयोग नही करता हैं. 
किसी विशेष व्यक्ति के जीवन के बारे में कुछ घटनाओ और परिस्थिति का रोचक व्याख्या ही संस्मरण कहलाता हैं. इसमें उन सभी बातो के बारे में लेखक बताता है जो उन्होंने अपने आँखों से देखा हो या अनुभव किया हो. 

लेखक जब अपने बारे में लिखता है तो उसे आत्मकथा होती है, और जब वही लेखक किसी दुसरे के बारे me लिखता है तो जीवनी कहा जाता हैं. 

दुसरे शब्दों में, किसी व्यक्ति विशेष द्वारा प्रत्यक्ष घटनाओं को बेहतर तरीके से प्रस्तुत करने की कड़ी “संस्मरण (Sansmaran)” कहलाती हैं. और वो घटनाये आँखों देखा और अनुभव किया हुआ होता हैं. 

अत: हम आशा करते है की Sansmaran kya hai ? जानकारी समझ आया होगा. इसे आप दोस्तों के भी शेयर कर सकते हैं और अन्य जानकारी के लिए हिंदीसोफ्टोनिक को फॉलो कर सकते हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *