By | August 16, 2021

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे कि तालिबान क्या हैं. यहाँ बहुत सारे ऐसे लोग है जो taliban kya hai in hindi में google पर सवाल कर रहे हैं. और ऐसे में इसका जवाब निचे की पंक्ति के अनुसार ही मिलता हैं वैसे तालिबान क्या है उसका उद्देश्य क्या है, इसकी राजधानी कहा है. सब कुछ इस पोस्ट में आपको मिलेगा तो आप इस आर्टिकल को पूरा जरुर पढ़े.

तालिबान क्या है | Taliban kya hai in hindi

तालिबान के सुन्नी इस्लामिक आधारवादी आन्दोलन है जिसकी शुरुआत दक्षिणी अफ़ग़ानिस्तान द्वारा 1994 में की गयी थी. यह एक पश्तो भाषा का शब्द है जिसका मतलब या अर्थ ज्ञानार्थी (छात्र) होता हैं. तालिबान आन्दोलन को तालेबान के नाम से भी जाना जाता हैं.

वैसे तालिबान के आन्दोलन को केवल पाकिस्तान, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात द्वारा मान्यता प्राप्त हैं. साथ हि साथ अफगानिस्तान को पाषाणयुग में पहुचाने तालिबान ही जो इसके लिए जिम्मेदार भी माना जाता हैं.

तालिबान शब्द का मतलब या अर्थ क्या है | Taliban meaning in hindi

तालिबान शब्द का मतलब (Taliban Meaning) क्या है. तालिबान शब्द का मतलब एक पश्तों जबान का शब्द है. पश्तो भाषा में छात्रों (Students) को तालिबान कहा जाता है.

तालिबान का उदय कैसे हुआ

तालिबान का उदय 1990 कि शुरुआत में उत्तरी पाकिस्तान में हुआ. उस समय की बात है जब सोवियत की सेना अफगानिस्तान से वापस जा रही थी. और पश्तून आंदोलन के मदद से तालिबान ने अफगानिस्तान में अपनी चढाई कर ही लिया था.

ये आन्दोलन का उद्देश्य लोगों को धार्मिक मदरसों तक पहुचना था और इसका पूरा खर्चा सऊदी अरब द्वारा उठाया जा रहा था.

तब 1996 में तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान के अधिकतर क्षेत्रों पर धीरे धीरे अधिकार जमा लिया . उसके बाद 2001 के अफ़ग़ानिस्तान युद्ध के बाद यह तो बिलकुल लुप्त हो चूका था.

लेकिन 2004 के बाद तालिबान ने भी फिर से अपना गतिविधियाँ  को दक्षिणी अफ़ग़ानिस्तान और पश्चिमी पाकिस्तान को बढ़ने लगी. 

उसके बाद फरवरी 2009 में तालिबान ने पाकिस्तान की उत्तर-पश्चिमी सरहद के पास स्वात घाटी में पाकिस्तान की सरकार के साथ एक समझौता किए. जिसमे वो लोगों को मारना बंद करेंगे.लेकिन उन्होंने ये मांग की कि इसके बदले उन्हें शरीयत के अनुसार पूरा काम करने की छूट मिलेगी.

तालिबान क्या चाहता है?

तालिबान अफगानिस्तान में इस्लामिक अमीरात की पूरी तरह से स्थापना करना चाहते है, क्योकि अफगानिस्तान में तालिबान की जड़ें इतनी मजबूत हो चुकी है कि उन्हें अमेरिकी सेनानी जैसे फौजी के उतरने के बाद भी तालिबानियों को कोई खत्म नही कर पाया. 

तालिबान की राजधानी क्या है?

 1994 में अफगानिस्तान में तालिबान आंदोलन की शुरुआत  हुई थी. अफगानिस्‍तान की राजधानी काबुल पर कब्जा कर लिया है.
लोकतंत्र, मानवता की बलि चढ़ाते हुए आज तालिबान ने एक नए अफ़ग़ानिस्तान की शुरुआत कर दी हैं. 

तालिबान का राष्ट्रपति कौन है?

तालिबान का राष्ट्रपति मुल्ला अब्दुल गनी हैं.

अफगानिस्तान में तालिबान क्या है?

अफगानिस्तान में तालिबान एक आन्दोलन है जिसे एक सुन्नी इस्लामिक आधारवादी आन्दोलन भी कहाँ जाता है, और इसे 1994 में दक्षिणी अफ़ग़ानिस्तान शुरू किया गया था. 

Read more – Bhuj Movie True Story in Hindi | Is Bhuj a Real Story?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *